तिलकमञ्जरी : संस्कृतगद्यमहाकथा : शान्त्याचार्यकृतेन टिप्पनकेन, ज्ञानकलशसंदृब्धताडपत्रीयटिप्पणीसङ्गता  खण्ड 1

धनपालविरचिता ; संपादक (संशोधित आवृत्ति), नारायण म. कंसारा

この本の情報

書名 तिलकमञ्जरी : संस्कृतगद्यमहाकथा : शान्त्याचार्यकृतेन टिप्पनकेन, ज्ञानकलशसंदृब्धताडपत्रीयटिप्पणीसङ्गता
著作者等 Dhanapāla, 10th cent.
Jñānakalaśa
Kaṃsārā, Nārāyaṇa Ma.
Lalbhai Dalpatbhai Institute of Indology
Śāntisūri, 11th cent.
書名ヨミ तिलक मञ्जरी : संस्कृत गद्य महा कथा : शान्त्याचार्य कृतेन टिप्पनकेन ज्ञानकलश संदृब्ध ताडपत्रीय टिप्पणी सङ्गता
書名別名 तिलक मञ्जरी : पण्डित कवि श्री धनपाल विरचिता गद्य कथा

तिलक मञ्जरी : संस्कृत गद्य महा कथा : शान्त्याचार्य कृतेन टिप्पनकेन ज्ञानकलश संदृब्ध ताडपत्रीय टिप्पणी सङ्गता

तिलकमञ्जरी : पण्डितकविश्रीधनपालविरचिता गद्यकथा

Kavi Dhanapāla's Tilakamañjarī : a Sanskrit prose romance : with Śāntyācārya's Ṭippanaka and Jñānakalaśas Tāḍipattra-ṭippaṇī
シリーズ名 Lalbhai Dalpatbhai series
巻冊次 खण्ड 1
出版元 लालभाई दलपतभाई भारतीय संस्कृति विद्यामंदिर
刊行年月 1991-
版表示 1st ed
ページ数 4, 40, 418 p., [2] leaves of plates
大きさ 25 cm
NCID BA20479774
※クリックでCiNii Booksを表示
言語 英語
サンスクリット
出版国 インド
この本を: 
このエントリーをはてなブックマークに追加

このページを印刷

外部サイトで検索

この本と繋がる本を検索

ウィキペディアから連想